अनंत तस्‍वीरें दृश्‍यावलियां ख़बर ब्‍लॉग्‍स

तिन्नी की आत्मकथा

शनिवार रात तिन्नी एक कैलेंडर ले आई। कहा कि इसमें तुम लिखो और मैं बोलती रहूंगी कि तिन्नी क्या क्या करती है। ऐसा करने का ख़्याल कहां से आया भगवान जाने लेकिन तिन्नी की बातों को जब मैं कैलेंडर के पीछे लिखता तो देखकर हैरान हो जाती। वो हिंदी के लंबे लंबे वाक्यों को अचंभे से देखती और कहती कि इतनी छोटी सी बात इतनी लंबी लिखनी होती है। धीरे धीरे उसकी बातें साढे चार साल की उम्र में ही तिन्नी की आत्मकथा बन गई। मैं उसकी तमाम बातों को यहां पेश कर रहा हूं। तिन्नी जिस तरह से बोलती रही उसी तरह से वाक्य बनते गए।

१. मम्मी को तिन्नी बहुत तंग करती है।
२. तिन्नी ने उस दिन विशु के साथ कमरा गंदा कर दिया था।
३.तनिमा बदमाशी करती है। (तनिमा तिन्नी का ही नाम है)
४.तनिमा ज़्यादा खेलती नहीं है।
५. तिन्नी मम्मी के लिए रोती है।
६. तिन्नी नहाने में बहुत तंग करती है।
७. तिन्नी को टब में नहाना अच्छा लगता है।
८. टब में ज़्यादा पानी होने से डूब गई तो?
९. तिन्नी बस से स्कूल जाएगी लेकिन बस बहुत भोर बेला आती है। तिन्नी उठ नहीं पाती है।
१०. तिन्नी सोना नहीं चाहती है।
११. तिन्नी वैशाली में रहती है।
१२. तिन्नी और विशु की कल शादी होगी।( विशु उसकी बहन भी बन जाती है)
१३. उसके बाद हम दोनों परी हो जाएंगे।
१४. तिन्नी गोवा गई थी।
१५. तिन्नी घड़ी में टॉम एंड जेरी का टाइम देखती है।
१६. जैसे ही टाइम होता है पापा से रिमोट छीन लेती है।
१७. मम्मी से टाइम पूछ लेती है।
१८. तिन्नी बहुत एसी चलाती है।
१९. पंखा चलाना ही नहीं चाहती।
२०. पापा तिन्नी को घूमाने ले जाते हैं।
२१. इतनी छोटी सी बात इतनी लंबी लिखनी होती है।
२२. मार्निंग में तिन्नी उठना नहीं चाहती।
२३. नाइट में तिन्नी सोना नहीं चाहती।
२४. स्कूल के टाइम में तिन्नी गजब हो जाती है।
२५. तिन्नी लाठी से खेलती है।
२६. टीवी में बहुत ज्यादा गेम चलाती है।
२७. स्कूल में सोने के टाइम में जगी रहती है।
२८. तिन्नी ने प्रणब भइया के साथ उस दिन खूब बदमाशी की थी।
२९. तिन्नी १२३ नहीं लिख पाती।
३०. खेलती रहती है पढाई ही नहीं करती।
३१. पापा बेस्ट फ्रेड नहीं है। ब्वाय लोग बेस्ट फ्रेड नहीं होते।
३२. पापा इस लाइन को काट दो। ठीक नहीं है।
३३. तिन्नी के पापा बाबाजुली भोजपुरी बोलते हैं।
३४. तिन्नी का सर खराब है।
३५. तिन्नी डांस करती है।
३६. तिन्नी ज्यादा पानी नहीं पीती है।
३७. पापा पेन से लिखने नहीं देते।
३८. तिन्नी रो रोकर पूछती है पापा घर क्यों नहीं आ रहे हैं?
३९. दादा जी ठाकुर जी के पास चले गए हैं।
४०. आजकल दादी बहुत रोती है।
४१. एक दिन कंप्यूटर खराब हो गया।
४२. तिन्नी बहुत फोटोग्राफ देखती है।
४३. मधुमिता दीदी तिन्नी को बहुत मारती थी।
४४. कंप्यूटर में तिन्नी काम करती है।
४५. बड़ी मम्मी,बड़े पापा,दादा जी,दादी जी,तृषा दीदी,
छोटी दीदी,नाना जी,नानी जी,पापा जी दी,मम्मी जी,श्योन,विशु,अमित भारती,
डैड्स,मॉम्स।

4 comments:

Mired Mirage said...

तिन्नी से कहिए कि सब पूछ रहे हैं कि इतनी सी तिन्नी इतना सब कैसे कर लेती है ? और यह भी कि तिन्नी बहुत प्यारी है।
घुघूती बासूती

Rajesh Roshan said...

मैं इस ब्लॉग का फैन हु.... क्यों?? क्योंकि यह बेटियों का ब्लॉग है इसलिए....इसलिए भी कि एक माता-पिता अपने बच्चे के बार में क्या और कैसे सोचते हैं जानने को मिलता है.... तिन्नी का तानाबाना...साढे चार साल कि तिन्नी... गजब तिन्नी... दादा जी ठाकुर जी के पास चले गए....संवेदनशील तिन्नी...बहुत अच्छा तिन्नी....

विजयशंकर चतुर्वेदी said...

आलेले..हम लोग चाहें भी तो इतनी अच्छी-अच्छी लाइनें नहीं लिख सकते. आज से तिन्नी हमारी टीचर.

Dipti said...

"पापा बेस्ट फ्रेड नहीं है। ब्वाय लोग बेस्ट फ्रेड नहीं होते।
पापा इस लाइन को काट दो। ठीक नहीं है।"
अगर आपने अब तक नहीं पूछा है तो अब आप ये तिन्नी से ज़रूर पूछे कि बॉय लोग क्यों बेस्ट फ़्रेन्ड नहीं होते हैं और क्यों ये लिखना ठीक नहीं है।