अनंत तस्‍वीरें दृश्‍यावलियां ख़बर ब्‍लॉग्‍स

तेरी मम्मी चुडैल जैसी

विमल भाई ने पंचमी कि बात की तो एकदम से उसकी याद ताज़ा हो आई। टैब हम सब एक ही बिल्डिंग मी रहते थे। पंचमी बहुत ही छूती थी। वाट कोशी के साथ खेलती। उन दिनों शहर मी विशाल भारद्वाज कि फ़िल्म 'मकडी' लगी थी। उसमे शबाना आज़मी ने चुडैल की भुमिका निभाई है। हमने भी वह फ़िल्म देखी। पंचमी ने भी देख रखी थी। सो दूसरे दिन जैसे ही कोशी नीचे पहुँची, उसने कहा, 'अए कोश्य्य, तेरी मामी ना, मकडी की चुडैल जैसी लगती है।' पता नहीं, क्या संयोग रहा है कि लोग अक्सर मेरी शक्ल की तुलना शबाना से कर देते हैं। कोशी को यह मालूम है, इसलिए उसने हम सबको आ कर बताया। हम सब खूब हँसे। एकाध दिन बाद विमल भाई, तनुजा, पंचमी हमारे यहाँ आए, कोशी ने यह ज़िक्र cheedaa। पति-पत्नी तो एकदम से सकपका गए। आख़िर कोई किसी के सामने ही उसे चुडैल कहे तो... तनुजा तो लगी पंचमी को डांटने। मैंने कहा कि अरे, यह तो उसने सही कहा है, मई लगती ही हूँ, उस चुडैल जैसी। और आप यह तो देखिये कि इस बच्ची ने कितने शार्प तरीके से इसे पकडा है।' विमल भाई, झेन्पिये मत, बेटी की बात का मज़ा लीजिये। आज उसे देख कर, उसके बारे मी पढ़ कर एकदम से उसकी याद ताज़ा हो गई। यह प्रसंग भी याद आ गया। उसे हमारा ढेरों प्यार.

2 comments:

vimal verma said...

ये आपका बड़प्पन ही था विभाजी की आपने इस वाक्ये को गम्भीरता से नहीं लिया,बच्चों की बात बच्चों जैसा बनाकर आपने बात को सम्भाल लिया,वैसे भी आपके थियेटर वर्कशॉप को आज भी पंचमी के साथ साथ हम भी याद करते हैं....आपका बच्चों के साथ काम का जो लम्बा अनुभव रहा है इसीलिये आपने पंचमी की बात को खेल की तरह लिया वरना आज भी पंचमी की कही गई बात से मैं और तनुजा बहुत ही ग्लानि महसूस करते हैं.....

Vibha Rani said...

are re re, vi,aml bhai, ya aap kya kah gaye? yah praasang maine aap dono ko fir se glani me dubone ke lie nahi likha. ham abhi bhi ise bahut enjoy karate hai. panchmi ki te budhdhhi ka kamal to dekhen ki usane do logo ki shakal ki samanta us nanhi si umr me hi dekh li. bachchon ki bat par yadi ham dukh, glani mahasoos kare, tab to akabar ko apane pote ko sahi me faansii de denii chahiye thi, jisne shahanshak ki moonchh ke baal ukharane ki koshihs ki thi. come on Vimal bhai. ab jhep miTane ke liye ghar aa hii jaie, panchmi, tanuja ke saath.